!! राहत को मिले 124 करोड़ खर्च ही नहीं कर पाया बरसात का सताया किन्नौर ! !!

अंतिम अपडेट 30-Oct-2018 07:37:18 am

रिपोर्टर किन्नौर

सबसे ज्यादा बरसाती नुकसान झेलने वाले किन्नौर जिला में आपदा प्रबंधन का 124 करोड़ खर्च ही नहीं हो पाया है। कई सालों से अनयूटिलाइज्ड इस भारी-भरकम बजट के मामले में नाराजगी जाहिर करते हुए केंद्र व राज्य सरकार ने किन्नौर जिला को रेड सिग्नल दिखा दिया है। यह राशि आपदा से निपटने के लिए सड़क मार्गों के मरम्मत कार्यों, ग्रामीण रास्तों, खेतों के डंगों तथा क्षतिग्रस्त पेयजल योजनाओं
सहित बरसाती नुकसान के किसी भी प्रकार के कार्य के लिए जारी की गई थी। हैरत है कि एक दशक से ज्यादा समय से किन्नौर जिला की अफसरशाही इस केंद्रीय सहायता पर कुंडली मार कर बैठी है।

 बताते चलें कि आपदा प्रबंधन के तहत केंद्र सरकार राज्यों को आर्थिक सहायता जारी करती है। इसी फंड से दुर्घटनाओं में मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। केंद्र सरकार ने इस आर्थिक सहायता की स्वीकृति में अपने मापदंड निर्धारित कर दिए हैं। इनमें कहा है कि लंबित राशि के मामले पाए जाने पर नया बजट नहीं दिया जाएगा। इस फेहरिस्त में किन्नौर जिला को रेड सिग्नल दिखाया गया है। इसके तहत बकाया 124 करोड़ की राशि खर्च करने पर ही किन्नौर जिला आपदा से निपटने के लिए नए बजट को प्राप्त करने का हकदार होगा।


प्रायोजित विज्ञापन

ज्योतिष परामर्श