!! करसोग ! मिट्टी के अवैध खनन होने के कारण पेड़ों का अस्तित्व खत्म होता जा रहा है। !!

अंतिम अपडेट 17-Feb-2020 08:14:16 pm

पियूष शर्मा

करसोग ! मिट्टी के अवैध खनन होने के कारण पेड़ों का अस्तित्व खत्म होता जा रहा है। प्रतिवर्ष वन विभाग द्वारा लगाए जाने वाले पौधों को भी यह भूमाफिया ठेंगा दिखाकर खुगेआम मिट्टी के अवैद्य खनन में लिप्त है। करसोग खंड के गांव नाजँ और आस-पास के गांवों में बने मिट्टी, रेत के टीलों से इस धंधे में जुड़े लोग प्रतिदिन गाडिय़ों व ट्रैक्टर ट्रालियों से मिट्टी के अवैद्य खनन को बढ़ावा दे रहे
है। गांव के जंगलातों में बने मिट्टी के टीलों से यह लोग बगैर कोई राशि अदा किये मिट्टी को ऊठा रहे है और जहां डालते है उनसे मोटी रकम वसूलते हैं। लगातार हो रहे मिट्टी के अवैध खनन के कारण वृक्षों का जीवन लगातार नष्ट होते जा रहा है। जहां से इस धंधे में लिप्त लोग मिट्टी उठाने का कार्य कर रहे है वहां भारी भरकम मोटे पेड़ पड़े हुए खुलेआम देखे जा रहे है ऐसा भी नहीं कि वन विभाग व ग्राम पंचायते इस मामले से अनभिज्ञ हो लेकिन इस पर प्रतिबंध लगाने के लिए कोई कदम नहीं उठा रहे है जिस कारण भूमाफिया बेखौफ इस धंधे में लिप्त होकर पेड़ो के अस्तित्व को नष्ट करने में लगे हुए है। नाजँ के समाजसेवी नेतराम शर्मा ने कहा कि इन भू माफियाओं बेखौफ इस धंधे मैं लिप्त होकर पेड़ों को काट रहे हैं जिससे कि हमारा पर्यावरण सुरक्षित नहीं रहेगा तथा इन भू माफिया के लिए सरकार को सख्त कानून बनाना चाहिए । तथा वन विभाग भी पूरी तरह से अनदेखी कर रहा है क्योंकि हमने वन विभाग करसोग को कई बार लिखित रूप में भी अवैध खनन के बारे में अवगत करवाया है।


प्रायोजित विज्ञापन

ज्योतिष परामर्श