!! जंजैहली ! देवता मगरू महादेव और देवता चपलांदू नाग हुए मंडी शिवरात्रि के लिए रवाना ! !!

अंतिम अपडेट 18-Feb-2020 03:34:51 pm

चेतन लता पंडित

जंजैहली ! मगरू महादेव छतरी से जंजैहली होते हुए मंगलवार सुबह मंडी शिवरात्रि के लिए रवाना हो गए । देवता के पुरोहित इंद्र ने बताया कि मंडी शिवरात्रि में पहुंचने के लिए देवता को 5 दिन लगते है । इतने कठिन और बर्फबारी रास्तों से होते हुए पैदल यात्रा कर पांचवें दिन मंडी पहुंचते है । सोमवार की शाम को जंजैहली के बायला गंाव में गुशाईनी माता के मंदिर में ठहरे थे । जबकि वह मंगलवार की
शाम कुरानी गांव में रात्रि विश्राम करेंगे । इसी दौरान मंगलवार को जंजैहली में देवता चपलांदू नाग भी अपने देवलुओं के साथ पहुंचे । जंजैहली में इन दोनो देवताओं का भव्य स्वागत हुआ । इंद्र शर्मा ने बताया रियासतीकाल से मगरू महादेव मंडी शिवरात्रि में शिरकत कर रहे है । जबकि मंडी शिवरात्रि के ये प्रमुख देवता के तौर पर अहम भूमिका निभाते है । जबकि मंडी के जलेब में सराज के नारायण देवता , मगरू महादेव और चपलांदू साथ चलते है । हांलाकि नारायण देवता शिवरात्रि के दूसरे दिन जंजैहली से प्रस्थान करते है । दोनों देवता बहुत दूर से आते हैं और रास्ते में इन देवताओं के लिए प्रीतिभोज रखा जाता है । मगरू महादेव जो कि शिव का रूप है जबकि चपलांदू नाग है और नारायण देवता विष्णु रूप में है । जंजैहली से चेतनलता की रिपोर्ट


प्रायोजित विज्ञापन

ज्योतिष परामर्श