!! सुंदरनगर ! इमारती लकड़ी नहीं मिलने से लोगों की बढ़ी मुश्किलें, डीएफओ को सौंपा ज्ञापन ! !!

अंतिम अपडेट 28-Feb-2020 07:34:44 pm

सचिन शर्मा

सुंदरनगर उपमंडल के अंतर्गत ग्राम पंचायत रोहांडा का एक प्रतिनिधिमंडल वन मंडल सुकेत के डीएफओ सुभाष चंद पराशर से शुक्रवार को मिलकर क्षेत्र में लोगों को ईमारती लकड़ी की उपलब्धता को लेकर आ रही समस्या पर एक ज्ञापन सौंपा। जानकारी देते हुए रोहांडा निवासी दुनी चंद ठाकुर ने कहा कि विभाग द्वारा पहले हमारे क्षेत्र में बर्तनदारी के लिए आधार पर वन विभाग से टीडी नियमों के अनुसार जंगल से लकड़ी मिलती थी। उन्होंने कहा कि अब विभाग ने इस प्रक्रिया को बहुत ही जटिल बना दिया गया है,जिसके तहत क्षेत्रवासियों को लकड़ी लेने में बहुत ही कठिनाइयां हो रही हैं। उन्होंने कहा कि गांववासियों और अन्य क्षेत्रों के लोगों को अपने भवन के निर्माण के लिए इमारती लकड़ी की जरूरत होती है, लेकिन विभाग के नियमों को लेकर लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इस कारण क्षेत्र में इमारती लकड़ी की भारी किल्लत हो रही है। उन्होंने कहा कि नियमानुसार एक पेड़ को लेकर 20 लोग द्वारा मांग की जाती है जो पूरी नहीं हो पाती है। दुनी चंद ने कहा कि इस कारण क्षेत्र में लोगों की इमारती लकड़ी की मांग को लेकर वन माफिया भी सक्रिय होकर जंगल की लकड़ी का व्यापार कर हरे-भरे जंगलों को खराब कर रहा है। क्षेत्रवासियों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर और विभाग से मांग की है कि उपरोक्त नियमों को सरल कर क्षेत्र के लोगों को भवन निर्माण के लिए इमारती लकड़ी उपलब्ध करवाई जाए। उधर डीएफओ सुुंदरनगर सुुुभाष चंद पराशर ने कहा कि टीडी नियमों को लेकर रोहांडा से लोगों का प्रतिनिधिमंडल मिलने आया था। उन्होंने कहा कि टीडी पालिसी के तहत जंंगल से सूूूखी लकड़ी लोगों को दी जाती हैं। उन्होंने कहा कि टीडी नियमों केे सख्त होने को लेकर प्रतिनिधिमंडल ने अपनी परेशानी को बताया गया।


प्रायोजित विज्ञापन

ज्योतिष परामर्श